सुंजवान अटैक: ओवैसी बोले- 7 मरे उनमें 5 कश्मीरी मुसलमान, कहां गए वफादारी पर शक करने वाले

65
File Photo

हैदराबाद। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने जम्मू के सुंजवान आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले को लेकर विवादित बयान दिया है। आतंकी हमले में शहीद जवानों के बहाने इस मुद्दे को सियासी रंग देते हुए ओवैसी ने कहा कि सात में से पांच लोग कश्मीरी मुसलमान थे, जो मारे गए हैं। ओवैसी ने कहा कि जो मुसलमानों को आज भी पाकिस्तानी समझते हैं, उन्हें इससे सबक लेना चाहिए। इस दौरान ओवैसी ने जम्मू-कश्मीर में सत्तारूढ़ पीडीपी-बीजेपी गठबंधन पर भी निशाना साधा। ओवैसी ने कहा कि दोनों मिलकर ड्रामा कर रहे हैं और बैठकर मलाई खा रहे हैं।
बता दें कि सुंजवान आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले में अबतक 6 जवान शहीद हो चुके हैं जबकि एक आम नागरिक की भी मौत हुई है। इलाके में सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है और केंद्र ने एनआईए जांच के आदेश दिए हैं।
ओवैसी ने आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों का जिक्र करते हुए कहा, ‘सात में से पांच लोग जो मारे गए हैं, वे कश्मीरी मुसलमान हैं। अब इसपर कुछ क्यों नहीं बोला जा रहा।’ ओवैसी ने कहा कि अब इससे सबक लेने की जरूरत है। आईएमआईएम प्रमुख ने कहा, ‘इससे उन लोगों को सबक हासिल करना होगा, जो मुसलमानों की वफादारी पर शक करते हैं, जो आज भी उन्हें पाकिस्तानी कह रहे हैं।’
छठे जवान का भी शव बरामद
बता दें कि बीते शनिवार को आतंकियों ने जम्मू के सुंजवान आर्मी कैंप पर हमला किया था। सुंजवान कैंप के पिछले गेट पर बने बंकर के संतरी ने शनिवार तड़के 4:55 बजे संदिग्ध हरकत देखी थी। संतरी ने फायर किया तो सेना की वर्दी में 4-5 आतंकवादी भारी गोलीबारी करते और ग्रेनेड फेंकते हुए अंदर घुस आए। इसके बाद सेना ने मुंहतोड़ जवाब देना शुरू किया। इस हमले में 6 जवान शहीद हुए हैं, जबकि सेना ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया।
श्रीनगर में दो आतंकी ढेर
उधर, सुंजवान के बाद आतंकियों ने श्रीनगर के करण नगर स्थित सीआरपीएफ कैंप पर भी हमला किया है। यहां सेना ने मोर्चा संभाला हुआ है। सोमवार सुबह शुरू हुई मुठभेड़ मंगलवार को भी जारी है। सुरक्षाबलों ने एक इमारत में छिपे आतंकवादियों पर अंतिम प्रहार करते हुए दो को मार गिराया है। सुरक्षाबलों का मानना है कि निर्माणाधीन इमारत में कुछ और आतंकवादी छिपे हो सकते हैं। ऐसे में अभियान अभी जारी रखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)