भारत के कार्टोसैट-2 सैटलाइट लॉन्च का पाकिस्तान ने किया विरोध

39
File Photo

इस्लामाबाद। भारत ने आज अपना 100वां उपग्रह कार्टोसैट-2 लॉन्च कर के रेकॉर्ड कायम कर लिया है लेकिन रेकॉर्ड बनने से एक दिन पहले ही पाकिस्तान ने इसको लेकर आपत्ति जताई थी। पाकिस्तान के मुताबिक सैटलाइट भले ही असैन्य उपयोग के लिए लॉन्च किया गया है लेकिन सेना भी इसका इस्तेमाल कर सकती है। पाकिस्तान ने कहा है कि इस दोहरी प्रकृति वाले सैटलाइट के लॉन्च होने से क्षेत्रीय और सामरिक स्थिरत पर नकारात्मक असर पड़ेगा।
पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा, ‘मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत 12 जनवरी को कार्टोसैट के साथ 31 सैटलाइट लॉन्च करने जा रहा है। ये सैटलाइट्स दोहरी प्रकृति के हैं और इन्हें सैन्य मकसद पूरे करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।’
एक रिपोर्टर द्वारा पूछे सवाल के जवाब में फैजल ने कहा, ‘सैटलाइट की दोहरी प्रकृति की वजह से अस्थिरता बढ़ेगी।’ उन्होंने कहा, ‘सभी देशों को अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का शांतिपूर्ण उपयोग करने का कानूनी अधिकार है। हालांकि, इन तकनीकों की दोहरी प्रकृति की वजह से यह जरूरी है कि इसका इस्तेमाल सैन्य क्षमता विकसित करने के लिए न हो, जिससे क्षेत्रीय स्थिरता पर नकारात्मक असर पड़े।’
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने शुक्रवार को अपना 100वां सैटलाइट, कार्टोसैट-2 लॉन्च किया है। कार्टोसैट-2 सीरीज के इस मिशन के सफल होने के बाद धरती की अच्छी गुणवत्ता वाली तस्वीरें मिलेंगी। इन तस्वीरों का इस्तेमाल सड़क नेटवर्क की निगरानी, अर्बन ऐंड रूरल प्लानिंग के लिए किया जा सकेगा।