बचपन में खुद से बड़ी उम्र के बच्चों के साथ खेलना लंबे शॉट्स का बड़ा कारण: धोनी

0
59

नई दिल्ली:टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लंबे-लंबे छक्के जड़ने के लिए जाना जाता है। धोनी ने अपने गगनचुंबी छक्कों और बड़े शॉट्स के पीछे कारण बताया है। उन्होंने कहा है कि इसका बड़ा कारण बचपन में कॉलोनी में अपने से बड़ी उम्र के लड़कों के साथ क्रिकेट खेलना रहा है। उन्होंने साथ ही कहा कि वह अपनी कॉलोनी में जब खेलते थे, तो उनकी उम्र सबसे कम थी।
धोनी ने द प्रिंट से कहा, ‘हम जिस कॉलोनी में रहते थे, वहां मेरी उम्र के सिर्फ 2 या 3 बच्चे थे। जो दूसरे बच्चे थे, उनकी उम्र मुझसे 5-6 साल ज्यादा थी। हो सकता है कि मेरे बेहतर क्रिकेट खेलने का एक कारण यह भी हो क्योंकि मैं खुद से बड़ी उम्र के क्रिकेटरों के साथ खेलता था।’ धोनी का ‘हेलिकॉप्टर’ शॉट भी काफी मशहूर है।
36 वर्षीय धोनी ने कहा, ‘जिनके साथ मैं बचपन में क्रिकेट खेलता था, उनकी उम्र ज्यादा थी और उनमें मुझसे ज्यादा पावर भी थी। वे मुझसे बेहतर इस खेल को समझते थे। उनके साथ खेलने से मेरा खेल भी सुधरा।’ उन्होंने साथ ही कहा कि 2011 वर्ल्ड कप जीतना क्रिकेटर के तौर पर उनकी जिंदगी का सबसे खास लम्हा है।
पूर्व कप्तान धोनी ने कहा, ‘2011 वर्ल्ड कप, भारत में वानखेड़े स्टेडियम में अपने घरेलू दर्शकों के सामने जीतना सबसे खास लम्हा रहा। मुझे लगता है कि वह पूरा ही टूर्नमेंट सबसे खास रहा।’ उन्होंने कहा, ‘जीत से पहले के 4-5 ओवर, जब सभी को लगने लगा कि हम फाइनल जीत जाएंगे तो लोगों ने शोर मचाना शुरू किया। वंदे मातरम् गाना शुरू किया। वही सबसे खास था।’