नये युग में बढ़ाये कदम कार्यशाला

0
114

मुंबई: कोपरखैरने सभा भवन में आचार्य श्री महाश्रमण जी की विदुषी शिष्या शासन श्री पद्मावती एवं साध्वीश्री गवेषणा जी साध्वीश्री मेरुप्रभाजी साध्वीश्री मयंकप्रभाजी के सानिध्य में “नए युग में बढ़ाये कदम” कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत महिला मण्डल द्वारा मंगला चरण से हुई। इस कार्यशाला का संचालन सहसंयोजिका ज्योति भटेवरा ने किया। इस कार्यशाला में संयोजिका सुरबाला परमार ने बताया कि हमें अपने जीवन में रिश्तो मैं कैसे संतुलन बनाये रखना हैं। मीनाक्षी डाँगी ने भी कार्यशाला पर अपने विचार व्यक्त किये। साध्वीश्री मयंकप्रभाजी ने कहा कि हमें आंतरिक सौंदर्य को योगासन, ध्यान, प्राणायाम, आदि से बढाना चाहिए। हमें दिखावा, आडंबर एवं प्रर्दशन को कम करना चाहिए। इस जीवन को रिश्तों में परिवार में समाज में अपने विवेक से संतुलित बनाये रखना है। साध्वीश्री मेरुप्रभाजी ने गीतिका गाकर इस कार्यशाला में चार चांद लगा दिये है। साध्वीश्री गवेषणा जी ने बहुत सरल शब्दों में समझाया कि हमें आपने जीवन को कैसे जीना है परिवार को समाज को साथ में रखकर नए युग में कैसे कदम बढ़ाना है। इस कार्यशाला में शांता लोढा, निर्मल सियाल, अंकित पामेचा, लीला आच्छा, पुष्पा डाँगी, सुमित्रा सिंघवी, पुष्पा डूंगरवाल कैलाश देवी दुगड़, रेखा छाजेड़, नीता चंडालिया का विशेष सहयोग रहा। इस कार्यशाला को सफल बनाने में महिला मंडल का पूर्ण सहयोग रहा। यह सूचना मीनाक्षी डांगी ने दी।