डायलिसिस मशीनों की खरीद में घिरी केजरीवाल सरकार

0
52

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (AAP) शासित दिल्ली सरकार पर अब अस्पतालों में डायलिसिस मशीनों की खरीद में टेंडर नियमों की अनदेखी कर जर्मन कंपनी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा है। पूर्व मंत्री व AAP के विधायक कपिल मिश्रा ने बुधवार को दिल्ली सरकार पर गंभीर आरोप लगाया और इस पर सरकार से जवाब मांगा। वहीं, कपिल मिश्रा के गंभीर आरोपों पर दिल्ली सरकार की तरफ से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।
बता दें कि नेशनल हेल्थ मिशन योजना के अंतर्गत आने वाले प्रधानमंत्री डायलिसिस प्रोग्राम के तहत दिल्ली सरकार ने 24 अक्टूबर को दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में लगाने के लिए हेमोडायलिसिस मशीन, आरओ सिस्टम आदि खरीदने व लगाने के लिए टेंडर आमंत्रित किया था।
इसके बाद गत दो नवंबर को प्री बिड मीटिंग के बाद छह नवंबर को दिल्ली सरकार ने एक संशोधन के द्वारा टेंडर के नियमों में बदलाव कर दिया। फिर एक तरह की खासियत वाली डायलिसिस मशीन जोकि केंद्र सरकार के डॉक्यूमेंट के अनुसार ‘ऑप्शनल’ थी उसे ‘मेंडेटरी’ कर दिया गया।
नियमों में इस बदलाव के बाद अब कोई भी सप्लायर जर्मन की एक विशेष कंपनी के अलावा कहीं और से मशीन नहीं खरीद पाएगा। वहीं, अन्य सभी कंपनियों की मशीनों को दिल्ली सरकार ने टेंडर प्रक्रिया से बाहर कर दिया।