खराब जेलों के बाद अब माल्या बोले, भारत में मेरी जान को खतरा

0
56

लंदन। प्रत्यपर्ण केस में चल रही सुनवाई के दौरान कारोबारी विजय माल्या ने अब भारत में जान के खतरे की आशंका जताई है। सोमवार को यूके की वेस्टमिन्स्टर कोर्ट में हुई प्री-ट्रायल सुनवाई के दौरान माल्या के वकील ने कहा कि उनके मुवक्किल को भारत में जान का खतरा है। अब अभियोजन पक्ष भारत सरकार द्वारा माल्या की सुरक्षा की तैयारी की रूपरेखा प्रस्तुत करने की तैयारी में जुटा है। माल्या ने एक बार फिर दावा किया है कि उनके खिलाफ लगाए गए सारे आरोप आधारहीन और झूठे हैं।
इससे पहले की सुनवाई में विजय माल्या ने भारत की खराब जेलों का हवाला दिया था। हालांकि तब भारत ने यूके अथॉरिटज को भरोसा दिलाया था कि माल्या को मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में रखा जाएगा। माल्या को जिस बैरक में रखने की तैयारी है उसकी तस्वीरें भी यूके अथॉरिटीज को भेजी गईं हैं। अब माल्या के पक्ष ने प्रत्यर्पण से बचने के लिए जान का खतरा ही बता दिया है।
हालांकि अभियोजन पक्ष माल्या की इस दलील की काट निकालने की तैयारी में जुट गया है। माल्या की सुरक्षा के लिए क्या इंतजाम किए जाएंगे, इसकी रूपरेखा कोर्ट में दाखिल करने की तैयारी की जा रही है। लंदन के वेस्टमिन्स्टर कोर्ट में अब इस मामले की अगली सुनवाइयां 4, 5, 6, 7, 11, 12, 13 और 14 दिसंबर को की जाएंगी।
विजय माल्या पर देश के कई सरकारी बैंकों से करीब 9000 करोड़ रुपये का लोन नहीं चुकाने का आरोप है। इसको लेकर माल्या के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला चल रहा है। माल्या ने दो मार्च 2016 को भारत छोड़ दिया था और तब से वह ब्रिटेन में रह रहे हैं। यूके की क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (सीपीएस) भारतीय अधिकारियों की तरफ से इस केस को देख रही है। सीपीएस ने पिछली सुनवाई के दौरान (3 अक्टूबर को) माल्या पर धोखाधड़ी के अलावा मनी लॉन्ड्रिंग के भी आरोप लगाए थे।

Source: Shilpkar