देश की पहली ‘राजमार्ग क्षमता नियमावली’ को गडकरी ने किया पेश

44

नई दिल्ली (ईएमएस)। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने देश की पहली ‘राजमार्ग क्षमता नियमावली’ (एचसीएम) मंगलवार को पेश की। यह सड़क अभियंताओं और नीति निर्माताओं को सड़क विस्तार में मदद करेगी। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस नियमावली को ‘इंडो-एचसीएम’ के तौर पर जाना जाता है। इसे वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद के तहत आने वाले केंद्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान (सीएसआईआर-सीआरआरआई) ने तैयार किया है। इसे तैयार करने के लिए संस्थान ने देशभर में विभिन्न प्रकार की सड़कों पर यातायात के दबाव का गहन अध्ययन किया है। इसमें सिंगल लेन,डबल लेन,शहरी सड़कों की मल्टी लेन के साथ अंतर-शहरी राजमार्ग और एक्सप्रेस वे के साथ इनसे जुड़ने वाली सहयोगी सड़कों इत्यादि पर यातायात के दबाव का अध्ययन किया गया है। इस अध्ययन में सीआरआरआई ने सात शैक्षणिक संस्थानों की भी मदद ली। इनमें आईआईटी-रुड़की, मुंबई और गुवाहाटी, योजना एवं वास्तुकला विद्यालय-नयी दिल्ली, भारतीय अभियांत्रिकी विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान -शिवपुर, सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय तकनीक संस्थान सूरत और अन्ना विश्वविद्यालय चेन्नई शामिल हैं। यह नियमावली सड़क विस्तार के बारे में नीति निर्माताओं और सड़क इंजीनियरों की मदद करेगी।