दिल्ली में हर दिन रेप के 5 मामले

33

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक देश की राजधानी में पिछले साल हर दिन बलात्कार के औसतन पांच से अधिक मामले दर्ज किए गए। साथ ही, ज्यादातर घटनाओं में आरोपी पीड़िता का परिचित था। दिल्ली पुलिस द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक साल २०१७ में बलात्कार के २०४९ मामले दर्ज किए गए जो २०१६ में २०६४ थे। पिछले साल छेड़छाड़ के ३२७३ मामले दर्ज किए गए। इसके मुताबिक फब्तियां कसने के मामलों में कमी दर्ज की गई। २०१६ में ८९४ मामले दर्ज किए गए थे जबकि पिछले साल ६२१ मामले दर्ज किए गए।
दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक का कहना है कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई सारे कदम उठाए गए हैं। वहीं, हत्या के ४५ फीसदी से अधिक मामले निजी रंजिश को लेकर थे। इन मामलों में १८ फीसदी से अधिक खूनखराबा नाई की दुकान में बालों में कंघी करने, सोने की जगह को लेकर, गोलप्पा परोसने सहित अन्य छोटे मोटे कारणों को लेकर हुआ। दिल्ली पुलिस की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक २०१६ की तुलना में पिछले साल हत्या के मामलों में कमी दर्ज की गई। पिछले साल हत्या के ४६२ मामले दर्ज किए गए जबकि २०१६ में ५०१ मामले दर्ज किए गए थे। दिल्ली पुलिस ने पिछले साल ८००० किग्रा से अधिक मादक पदार्थ जब्त किए। एनडीपीएस एक्ट के तहत पिछले साल ३६२ मामले दर्ज किए गए जबकि २०१६ में इस तरह के २८९ मामले दर्ज किए गए थे। दिल्ली पुलिस ने पिछले साल सोनू दरियापुर सहित कुल ११० खूंखार अपराधियों को गिरफ्तार किया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सोनू के सिर पर ५। ५ लाख रूपये का इनाम।
दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त (अपराध) आरपी उपाध्याय का कहना है कि दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने शहर के सर्वाधिक वांछित अपराधियों-सत्यवान सहरावत उर्फ सोनू दरियापुर को सितंबर में गिरफ्तार किया। दिल्ली यातायात पुलिस ने यातायात नियमों का उल्लंघन करने को लेकर पिछले साल ६० लाख से अधिक चालकों पर केस दर्ज किया, जुर्माने के तौर पर ९४.२५ करोड़ रू एकत्र किया है। अनुचित पार्किंग और सीट बेल्ट का इस्तेमाल नहीं करने के मामलों में सर्वाधिक जुर्माना वसूला गया, इनके क्रमश: १०.३७ और ५.९३ लाख चालान काटे गए है।