हिन्दी के सुप्रसिद्ध कवि अजित नहीं रहे

0
59

नयी दिल्लीः हिन्दी के वयोवृद्ध कवि एवं हरिवंश राय बच्चन के निकट सहयोगी अजित कुमार का आज सुबह यहां एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे।
श्री कुमार ने वर्षों पहले देहदान करने की घोषणा की थी, इसलिए उनका अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा बल्कि उनका पार्थिव शरीर कल अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान को सौंप दिया जाएगा। श्री कुमार गंभीर बीमारी के कारण पिछले पंद्रह दिन से अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष में भर्ती थे। वह दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज से हिन्दी के प्राध्यापक पद से सेवानिवृत्त होने के बाद स्वतंत्र लेखन कर रहे थे। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में जन्मे श्री कुमार पुराने जमाने की हिन्दी लेखिका सुमित्रा कुमारी सिन्हा के पुत्र थे और हरिवंश राय बच्चन रचनावली के सम्पादक भी थे। वह अपनी कविताओं के अलावा आलोचना और संस्मरण लेखन के लिए भी जाने जाते थे। उनकी पत्नी हिन्दी की प्रसिद्ध कवयित्री स्नेहमयी चौधरी हैं।

------------------------------------------------------------------------------------------------------

हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें सुरभि न्यूज़ एप्प

यह भी देखें :   शर्मनाक: बुजुर्गों से व्यवहार का हमारा बहुत गंदा रेकॉर्ड
loading...