लोकल स्टेशनों पर तैयार हो रहे हैं ‘मॉर्डन टॉइलट’

0
61

मुंबई:उपनगरीय स्टेशनों पर यात्रियों को स्टेशन परिसर में बदबूदार शौचालयों से निजात मिलने वाली है, क्योंकि कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) के तहत अधिकांश स्टेशनों पर टॉइलट्स का नूतनीकरण हो रहा है। पश्चिम रेलवे के एलफिंस्टन रोड और लोअर परेल स्टेशन तथा मध्य रेलवे के दादर और विक्रोली स्टेशन पर नए टॉइलट बनकर तैयार हैं। पश्चिम रेलवे के दादर, माहिम और चर्नी रोड स्टेशन पर शौचालय नवीनीकरण का काम चल रहा है, जबकि मध्य रेलवे पर 20 शौचालयों का नूतनीकरण किया जा रहा है। इनमें से अधिकांश टॉइलट रोटरी इंटरनैशनल के सौजन्य से बनाए जा रहे हैं।
रोटरी इंटरनैशनल की विनोद जैन के अनुसार, ‘हम नित्यम टॉइलट प्रॉजेक्ट्स के लिए मध्य और पश्चिम रेलवे पर लगभग 2 करोड़ रुपये खर्च कर रहे हैं। स्टेशनों पर शौचालयों की लचर हालत को लेकर कई बार शिकायतें होती हैं।’
इस प्रॉजेक्ट से जुड़े अगस्ती एनजीओ के सहेज मंत्री बताते हैं, ‘मध्य रेलवे दादर स्टेशन के प्लैटफॉर्म क्रमांक 4 पर (पनवेल छोर) और विक्रोली स्टेशन के प्लैटफॉर्म क्रमांक 2 (ठाणे छोर) पर नए शौचालय उपलब्ध कराए जा चुके हैं। प्रत्येक शौचालय के नूतनीकरण के लिए 3-4 माह लगते हैं।’
नए टॉइलट की ‘हाइजैनिक’ बातें
मुंबई अर्बन ट्रांसपोर्ट प्रॉजेक्ट (एमयूटीपी) के तहत खरीदे गए नए पर्पल रैक की तर्ज पर इन दोनों नए टॉइलट्स को थीम दी गई है। नए टॉइलट ब्लॉक्स की दीवारों को कुछ इस तरह से बनाया गया है कि दाग भी नहीं दिखेंगे और हमेशा नए भी दिखेंगे। इसके अलावा ब्लॉक्स का पैंट और फ्लोरिंग दोनों ऐंटि-फंगल, ऐंटि बैक्टीरियल है। इन सभी बातों के अलावा टॉइलट्स में सही वेंटिलेशन के लिए मॉर्डन एक्जॉस्ट फैन लगाए गए हैं। बड़े पाइप और इलेक्ट्रिकल वायरिंग को नए तरीके से फिट किया गया है। पाइप को दीवारों में कंसील्ड किया गया है जिससे टॉइलट को साफ करना आसान होगा, इसके अलावा पाइप चोरी होने का डर भी खत्म होगा।

यह भी देखें :   अमित शाह ने गिनाए मोदी सरकार के 3 साल के काम

------------------------------------------------------------------------------------------------------

हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें सुरभि न्यूज़ एप्प

loading...