Paytm ने 85 हजार सेलर्स को हटाया, धोखाधड़ी रोकने के लि‍ए उठाया कदम

0
57

मुंबईःएजेंसी। पेटीएम ई-कॉमर्स प्राइवेट लि‍मि‍टेड की कंपनी पेटीएम मॉल अपने प्‍लैटफॉर्म पर सेलर्स को जोड़ने के लि‍ए प्रोसेस में बदलाव कि‍या है। पेटीएम ने क्‍वालि‍टी कंट्रोल को सुनि‍श्‍चि‍त करते हुए 85 हजार सेलर्स को डीलि‍स्‍ट कर दि‍या है। जो सेलर्स प्रोडक्ट्स क्‍वालिटी स्टैंडर्ड्स का पालन नहीं करते थे उनको प्‍लैटफॉर्म से हटा दि‍या गया है।
सेलर्स के लि‍ए सख्‍त कि‍या प्रोसेस

पेटीएम मॉल के क्‍वालिटी और सर्विस ऑडिट के तहत प्लैटफॉर्म पर अपने प्रोडक्ट्स की लिस्टिंग के लिए सेलर्स को अपना रजिस्ट्रेशन नंबर, शॉप की फोटो, स्टोर की लोकेशन और गुड्स एंड सर्वि‍स टैक्‍स आइडेंटि‍फि‍केशन नंबर (GSTIN) की जानकारी देनी होगी। कंपनी को उम्मीद है कि इससे धोखाधड़ी करने वाले सेलर्स को रोकने में मदद मिलेगी और उसके प्लैटफॉर्म पर कस्टमर्स को खराब अनुभव नहीं होगा।

कंपनी ने यह कदम जीएसटी लागू होने के 15 दिन बाद उठाया है, लेकिन उसका कहना है कि सेलर्स को डीलिस्ट करने का जीएसटी से कोई संबंध नहीं है। साथ ही, कंपनी जीएसटी के बाद टैक्सेशन में बदलाव के कारण सभी कैटिगरीज में मार्जिन स्ट्रक्चर को बदलने पर विचार नहीं कर रही। पेटीएम मॉल के सीओओ अमित सिन्हा ने कहा कि‍ हमने अपने मार्जिन या सर्विस फीस में बदलाव नहीं किया है। हालांकि, हमारे सर्विस चार्ज में अब जीएसटी का एक हिस्सा शामिल है।

दुकानों पर होगाQRकोड
कंपनी ने कहा कि‍ दुकानों को भी पेटीएम मॉल QR कोड सॉल्यूशन उपलब्ध कराया जाएगा जिससे कस्टमर्स अपने प्रोडक्ट्स को स्कैन और ब्राउज कर तुरंत ऑर्डर दे सकेंगे। इससे स्थानीय दुकानों को ऐसे कस्टमर्स से बिजनेस मिलेगा जो अपने प्रोडक्ट्स ऑनलाइन खरीदते हैं। पेटीएम मॉल ब्रैंड्स और दुकानदारों को उसके प्लैटफॉर्म पर बेचे जाने वाले प्रोडक्ट्स के लिए रिटर्न, एक्सचेंज और रिफंड पॉलिसी बनाने की सुविधा भी देगा।

Source: shilpkar

यह भी देखें :   पेट्रोल-डीज़ल की होम डिलिवरी पर विचार कर रही है सरकार

------------------------------------------------------------------------------------------------------

हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें सुरभि न्यूज़ एप्प

loading...